बिहार – बाढ़ से हुए नुकसान का आंकड़ा जाने साथ में हेल्पलाइन नंबर जाने

आपदा प्रबंधन विभाग के प्रधान सचिव प्रत्यय अमित ने बताया कि एनडीआरएफ की सोलह टीमों को बाढ़ राहत कार्य में तैनात किया गया है. जिसमें कुल 690 जवान शामिल हैं. उन्होंने बताया कि इसके अलावा एसडीआरएफ की 13 टीमें जिसमें 440 जवान और आर्मी की 7 टीमें (525 जवान) बाढ़ प्रभावित क्षेत्रों मे बचाव कार्य में जुट गये हैं. बाढ़ बचाव कार्य में 204 वोट (नाव) काम कर रहे हैं. वहीं बिहार में अबतक बाढ़ में डूबकर 41 लोगों की मौत की पुष्टि होने की खबरें मिल रही है. 

बाढ़ से भारी तबाही : 41 की मौत

– बेतिया-गौनाहा प्रखंड क्षेत्र में बाढ़ में 12 लोगों की मौत की पुष्टि

– अररिया-जोगबनी में 5 लोगों की डूबने से मौत 

– किशनगंज-बाढ़ में डूबकर 2 लोगों की मौत की पुष्टि

– नालंदा में पंचाने नदी में डूबकर एक की मौत की पुष्टि

– समस्तीपुर-करेह नदी में डूबकर एक की मौत की पुष्टि

– रक्सौल-मूर्तिया गांव में बाढ़ में डूबकर युवक की मौत 

– कटिहार-कोसी नदी में डूबकर 2 लोगों की मौत

बाढ़ में फंसे लोग सहायता के लिए इन नंबरों पर कॉल करें

आपदा प्रबंधन विभाग ने बाढ़ में फंसे लोगों के लिए टॉल फ्री 1070 नंबर जारी किया है. सहायता के लिए इन नंबरों पर भी कॉल किया जा सकता है. 

– पूर्णिया : 06454-241555 243000

– किशनगंज : 06456-223452 223452 223454

– अररिया : 06453-222209

– कटिहार – 06452-239025 239026

  – दरभंगा : 06272- 240600

– मधुबनी : 06276-222576

-पूर्वी चंपारण : 06252-242418

– पश्चिमी चंपारण : 06254-242534

डिसक्लेमर :- इस वेबसाइट में जानकारी देने का हर तरह से वास्तविकता का संभावित प्रयास किया गया है।अतः इसकी नैतिक जिम्मेदारी हमारी नहीं है। Ayurvedgyan.com में दी गई जानकारी पाठकों के ज्ञानवर्धन के लिए है। अतः हम आप से निवेदन करते हैं की किसी भी उपाय का प्रयोग करने से पहले अपने चिकित्सक से अवश्य सलाह लें लें। हमारा उद्देश्य आपको जागरूक करना है। आपका डाॅक्टर ही आपकी सेहत बेहतर जानता है !